Translate This Website In Any Language

Mudra Loan Business Ideas: प्रधानमंत्री मुद्रा लोन योजना क्या है? शिशु मुद्रा लोन के तहत 50 हजार रूपये का लोन लेकर छोटे व्यापारी शुरू कर सकते हैं ये कुछ व्यवसाय, होगी बंपर कमाई।

Mudra Loan 2022: प्रधानमंत्री मुद्रा लोन योजना के प्रकार, ब्याज दरें व नियम

प्रधानमंत्री मुद्रा योजना (PMMY) के तहत माइक्रो यूनिट्स डेवलपमेंट एंड रिफाइनेंस एजेंसी (MUDRA) लोन स्कीम भारत सरकार की एक पहल है जो व्यक्तियों, SME और MSME को लोन प्रदान करती है। MUDRA LOAN YOJNA के तहत 3 लोन योजनाएं ऑफर की जाती हैं जिसका नाम शिशु, किशोर और तरुण है। मुद्रा लोन योजना (Mudra Loan Yojana) के तहत दी जाने वाली अधिकतम लोन राशि 10 लाख रु. है, जबकि न्यूनतम लोन राशि तय नहीं है। मुद्रा लोन लेने के लिए आवेदक को बैंकों या लोन संस्थानों को कोई गारंटी देने या गिरवी रखने की आवश्यकता नहीं होती है। इस लोन का भुगतान 3 साल से 5 साल तक कर सकते हैं।

Mudra loan yojna

मुद्रा लोन के प्रकार

व्यापार के आकार और विकास के साथ-साथ धन की आवश्यकता के आधार पर, मुद्रा लोन (Mudra Loan) को तीन प्रकार में बांटा गया है:


शिशु लोन:

इसके तहत, लोन उन लोगों को दिया जाता है जो अपना व्यवसाय शुरू कर रहे हैं और आर्थिक मदद की तलाश कर रहे हैं। इसके अंतर्गत अधिकतम 50,000 रु. का लोन दिया जात है। 5 वर्ष की पुनर्भुगतान अवधि के साथ इसकी ब्याज दर 10% से 12% सालाना है।


किशोर लोन:

ये लोन उनके लिए है जिनका व्यवसाय पहले ही शुरू हो चुका है,  लेकिन अभी तक स्थापित नहीं हुआ है। इस के तहत दी जाने वाली लोन की राशि 50,000 रू. से 5 लाख रू. के बीच होती है। ब्याज की दर लोन देने वाली संस्था के आधार पर अलग-अलग होती है। व्यवसाय की योजना के साथ-साथ आवेदक का क्रेडिट रिकॉर्ड भी ब्याज दर तय करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। लोन भुगतान की अवधि बैंक द्वारा तय की जाती है।


तरुण लोन:

ये उन लोगों के लिए है जिनका व्यापर स्थापित हो चुका है और उसे बढ़ाने और संपत्ति की खरीद के लिए धन की आवश्यकता है, इसमें लोन की राशि 5 लाख रु. से 10 लाख रु. के बीच है। ब्याज दर और भुगतान की अवधि योजना और आवेदक के क्रेडिट रिकॉर्ड पर आधारित होती है।


मुद्रा लोन की विशेषताएं


प्रोसेसिंग फीस

शून्य

गारंटी / सुरक्षा

आवश्यक नहीं है

न्यूनतम लोन राशि

तय नहीं

अधिकतम लोन राशि

₹ 10 लाख तक

मुद्रा योजना के प्रकार

शिशु, किशोर और तरुण

ब्याज दर

एक बैंक से दूसरे बैंक में अलग अलग, व्यावसायिक आवश्यकताओं पर निर्भर करती है

भुगतान अवधि

12 महीने से 5 साल तक



मुद्रा लोन के लाभ

  • मुद्रा लोन प्रमुख रूप से दुकानदारों, व्यापारियों, विक्रेताओं, और MSMEs को विनिर्माण, व्यापार और सेवा क्षेत्र में कार्यरत लोगों द्वारा लिया जा सकता है।


  • मुद्रा योजना भारत सरकार की क्रेडिट गारंटी योजनाओं के अंतर्गत आती है।


  • लोन की राशि का उपयोग टर्म लोन और ओवरड्राफ्ट सर्विस के रूप में भी किया जा सकता है।


  • सभी गैर-कृषि व्यवसाय, मतलब आय सृजन गतिविधियों में लगे छोटे व्यवसाय मुद्रा लोन का लाभ उठा सकता हैं।


  • मुद्रा योजना का लाभ मुद्रा कार्ड के माध्यम से लिया जा सकता है।



प्रधानमंत्री मुद्रा योजना का उद्देश्य

निम्नलिखित गतिविधियों के लिए मुद्रा योजना का लाभ उठाया जा सकता है:


कॉमर्शियल वाहन: ट्रैक्टर, ऑटो-रिक्शा, टैक्सी, ट्रॉली, टिलर, माल परिवहन वाहनों, 3-पहिया, ई-रिक्शा, आदि जैसे कॉमर्शियल वाहनों की खरीद के लिए।


सर्विस सेक्टर की गतिविधियाँ : सैलून, जिम, टेलरिंग की दुकानें, दवाई की दुकानें, मरम्मत की दुकानें और ड्राई क्लीनिंग और फोटोकॉपी की दुकानें आदि का व्यवसाय शुरू करना।


फूड और वस्त्र निर्माण क्षेत्र की गतिविधियाँ: संबंधित क्षेत्र में विभिन्न गतिविधियाँ के लिए।


व्यापारियों और दुकानदारों के लिए व्यावसायिक गतिविधियाँ: दुकानों, सेवा उद्यमों, व्यापार और व्यावसायिक गतिविधियों और गैर-कृषि आय सृजन गतिविधियों की स्थापना के लिए।


छोटे व्यवसायों के लिए उपकरण फाइनेंस योजना: अधिकतम 10 लाख रु. तक।


कृषि-संबद्ध गतिविधियाँ: कृषि-क्लीनिक और कृषि व्यवसाय केंद्र, खाद्य और कृषि-प्रोसेसिंग इकाइयाँ, पोल्ट्री, मछली पालन, मधुमक्खी पालन, छँटाई, पशुधन-पालन, ग्रेडिंग, कृषि उद्योग, डायरी, मत्स्य पालन, आदि व्यवसायों से संबंधित गतिविधियों के लिए।




वर्ष 2022 में मुद्रा लोन देने वाले बैंक

इलाहाबाद बैंक

सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया

इंडियन ओवरसीज़ बैंक

सारस्वत बैंक

आंध्रा बैंक

कॉर्पोरेशन बैंक

जम्मू एंड कश्मीर बैंक

स्टेट बैंक ऑफ इंडिया 

एक्सिस बैंक

फेडरल बैंक

कर्नाटक बैंक

सिंडीकेट बैंक

बैंक ऑफ बड़ौदा

HDFC बैंक

कोटक महिंद्रा बैंक

तमिलनाड मर्सेंटाइल बैंक

बैंक ऑफ इंडिया 

ICICI बैंक

ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स

UCO बैंक

बैंक ऑफ महाराष्ट्र

IDBI बैंक

पंजाब एंड सिड बैंक

यूनियन बैंक ऑफ इंडिया 

केनरा बैंक

इंडियन बैंक

पंजाब नेश्नल बैंक

यूनाइटेड बैंक ऑफ इंडिया 




Mudra Loan: आवश्यक दस्तावेज

  • एप्लीकेशन फॉर्म

  • यदि लागू हो तो, आवेदक और सह-आवेदक की पासपोर्ट साइज़ की तस्वीरें

  • आवेदक और सह-आवेदकों के KYC दस्तावेज

  • पहचान का प्रमाण (आधार कार्ड / मतदाता पहचान पत्र / पासपोर्ट / ड्राइविंग लाइसेंस, आदि)

  • निवास का प्रमाण (आधार कार्ड / मतदाता पहचान पत्र / पासपोर्ट / टेलीफोन बिल / बैंक विवरण, आदि)

  • इनकम प्रूफ, जैसे कि आईटीआर, सेल्स टैक्स रिटर्न, लाइसेंस, रजिस्ट्रेशन, इत्यादि

  • एक विशेष श्रेणी, जैसे कि एससी, एसटी, ओबीसी, अल्पसंख्यक, आदि (यदि लागू हो) का प्रमाण

  • व्यवसाय का पता और कार्यकाल प्रमाण, यदि लागू हो

  • रजिस्ट्रेशन, लाइसेंस या प्रमाण पत्र (यदि कोई हो तो)



मुद्रा लोन के लिए ऑनलाइन आवेदन फॉर्म कैसे भरें?

स्टेप 1: मुद्रा लोन एप्लीकेशन फॉर्म डाउनलोड करें।

स्टेप 2: लोन एप्लीकेशन फॉर्म में सही जानकारी भरें।

स्टेप 3: किसी भी सार्वजनिक या प्राइवेट बैंक में जाएं जो मुद्रा लोन देती है।

स्टेप 4: बैंक की सभी प्रक्रियाओं को पूरा करें।

स्टेप 5: जिसके बाद लोन पास हो जाएगा।



मुद्रा लोन कस्टमर केयर नंबर

मुद्रा लोन कस्टमर केयर नंबर (Mudra Loan Customer Care Number) निम्नलिखित है:

क्रम. सं.

टोल-फ्री नंबर

1

1800 180 11 11

2

1800 11 0001




महिलाओं को मुद्रा लोन कैसे मिलेगा?

सरकार, PMMY के तहत मुद्रा योजना द्वारा महिला उद्यमियों को प्रोत्साहित किया जाता है। भारत सरकार ने भी बैंकों, लोन संस्थानों और माइक्रो फाइनेंस इंस्टीट्यूशंस (MFI) को कम ब्याज दरों पर महिला उद्योमियों को लोन प्रदान करने के लिए कहा है। वर्तमान में, NBFC और MFI से मुद्रा योजना के तहत महिला उद्यमियों को 25 बेसिक पॉइंट कम ब्याज दरों पर लोन ऑफर किया जाता है।



मुद्रा कार्ड क्या है?

मुद्रा कार्ड एक डेबिट कार्ड है, जो उन लोन आवेदकों को जारी किया जाता है जो मुद्रा लोन (Mudra Loan) के लिए आवेदन करते हैं। जब एक लोन आवेदक मुद्रा लोन के लिए आवेदन करता है, और यदि लोन मंज़ूर हो जाता है, तो उसका मुद्रा लोन अकांउट खुलता है तथा उसी के साथ कार्ड भी जारी किया जाता है। लोन राशि मुद्रा अकांउट में डाली जाती है व लोन आवेदक मुद्रा कार्ड का उपयोग कर के अपने मुद्रा अकांउट से राशि निकाल सकते हैं।



शिशु मुद्रा लोन क्या है, इसके क्या फायदे हैं?

अगर आप अपना व्यापार शुरू करने या कारोबार बढ़ाने के बारे में सोच रहे हैं तो सरकार की शिशु मुद्रा लोन योजना का फायदा उठा सकते हैं।


  • आत्मनिर्भर भारत अभियान के तहत भारत सरकार की ओर से शिशु मुद्रा लोन ग्राहकों को भी राहत दी गई है।


  • प्रधानमंत्री मुद्रा योजना में वास्तव में तीन तरह के लोग दिए जाते हैं. इनमें से सबसे पहला है-शिशु मुद्रा लोन योजना।


  • शिशु मुद्रा लोन योजना के तहत आप 50,000 रुपये तक का कर्ज ले सकते हैं।


  • अगर बात इस समय मुद्रा शिशु लोन लेने वाले ग्राहकों की करें तो तीन करोड़ लोग 12 महीने तक ब्याज दर में दो फीसदी की छूट का फायदा उठा सकते हैं।


  • इस अवधि के लिए शिशु मुद्रा लोन लेने वाले लोगों का 1500 करोड़ रुपये का ब्याज केंद्र सरकार भरेगी।



शिशु मुद्रा लोन योजना क्या है?

शिशु मुद्रा लोन योजना के तहत कोई व्यक्ति दुकान खोलने, रेहड़ी-पटरी पर कारोबार करने जैसे छोटे काम के लिए बैंक से 50,000 रुपये तक का लोन ले सकता है। इससे वह अपना व्यापार कर सकता है। 



कौन ले सकता है शिशु मुद्रा लोन?

केंद्र सरकार का मकसद छोटे स्तर पर व्यापार करने वालों की मदद करने का है। इसलिए शिशु मुद्रा लोन योजना के तहत सिर्फ छोटे व्‍यापारियों को लोन मिल सकता है। बड़े कारोबार के लिए इस योजना के तहत मदद नहीं मिलेगी।



शिशु मुद्रा लोन कैसे मिलेगा?

शिशु मुद्रा योजना लोन का फायदा उठाने के लिए आपको अपना पहचान पत्र, पते का दस्तावेज, दो फोटो, और उन समानों या मशीनरी का कोटेशन, जिन्हें आप अपना बिजनेस शुरू करने के लिए खरीदना चाहते हैं। इस तरह के कुछ जरूरी दस्तावेज आपको जमा करने होगें। तब आप शिशु मुद्रा लोन के लिए बैंक में अप्लाई कर सकते हैं।



कहां से मिलेगा शिशु मुद्रा लोन?

वाणिज्यिक बैकों, आरआरबी, स्मॉल फाइनेंस बैंक, एमएफआई और एनबीएफसी द्वारा शिशु मुद्रा लोन दिये जाते हैं। ग्राहक इन संस्थानों में जाकर लोन के बारे में बात कर सकते हैं या https://www.udyamimitra.in/ पोर्टल पर जाकर लोन के लिए ऑनलाइन आवेदन कर कर सकते हैं। शिशु मुद्रा योजना में बिना गारंटी के आसानी से लोन मिल जाता है।


केंद्र सरकार ने 8 अप्रैल 2015 को पीएम मुद्रा योजना की शुरुआत की थी। इस योजना का मकसद व्यापारियों को आसानी से लोन की सुविधा उपलब्ध कराना है।



शिशु मुद्रा लोन के लिए क्या क्या डॉक्यूमेंट चाहिए?

  • पासपोर्ट साइज फोटो

  • आधार कार्ड

  • निवास प्रमाण पत्र

  • पैन कार्ड

  • बिजनेस प्रमाण पत्र

  • जरुरत के अनुसार बैंक डिटेल्स

  • आयु प्रमाण पत्र



शिशु मुद्रा लोन पर ब्याज दरें?

शिशु मुद्रा लोन योजना के लिए कोई निश्चित ब्याज दर नहीं है। अलग-अलग बैंक मुद्रा लोन पर अलग अलग ब्याज दर वसूल करते हैं। ब्याज दर का निर्धारण बिजनेस की प्रकृति और उससे जुड़े जोखिम के आधार पर भी तय होता है। आमतौर पर शिशु मुद्रा लोन पर 9-12 फीसदी तक का सालाना ब्याज चुकाना पड़ता है।




शिशु मुद्रा लोन के तहत 50 हजार रूपये का लोन लेकर छोटे व्यापारी शुरू कर सकते हैं ये कुछ व्यवसाय, होगी बंपर कमाई

मुद्रा लोन व्यवसाय (बिज़नेस) आइडियाज

Mudra Loan Business Ideas, 

अक्सर सूक्ष्म या छोटे व्यापारी जब किसी व्यवसाय को शुरू करने का विचार करते हैं, तो उनके पास पूंजी की कमी होने के कारण वे व्यवसाय को शुरू नहीं कर पाते है। किन्तु हमारे देश की सरकार ऐसे लोगों की मदद करने के लिए ‘प्रधानमंत्री मुद्रा लोन योजना’ लेकर आई हैं, जिसके तहत ऐसे लाभार्थी 50 हजार रूपये का लोन प्राप्त कर खुद के कुछ व्यवसाय शुरू कर सकते हैं। मुद्रा लोन योजना में इतना लोन शिशु मुद्रा लोन श्रेणी में आने वाले लोगों को दिया जाता है। हालही में देशव्यापी लॉकडाउन के चलते मोदी सरकार ने इसके तहत ब्याज की दर में 2% की छूट देने का ऐलान भी किया है। और यह सुविधा अगले महीने से अगले साल मई माह तक के लिए कर दी जा रही हैं। यदि आप भी इसका फायदा उठा कर खुद का व्यवसाय शुरू करने का मन बनाते हैं, तो इसके लिए कुछ व्यवसाय के आइडियाज हम यहाँ दे रहे हैं।


50 हजार रूपये का मुद्रा लोन लेकर शुरू कर सकने वाले व्यवसाय (Mudra Loan Business Idea)

कुछ व्यवसाय आइडियाज इस प्रकार है जिसे सरकार द्वारा दिए जाने वाले 50 हजार रूपये के मुद्रा लोन प्राप्त करके प्रारंभ कर सकते हैं –


फ़ूड ऑन व्हील (Food on Wheel)

सरकार द्वारा दिए जाने वाले 50 हजार रूपये के मुद्रा लोन से आप फ़ूड ऑन व्हील का व्यवसाय शुरू कर सकते हैं। यह एक तरीके से चलता – फिरता रेस्तौरेंट होता है। जिसमें आपको फ़ूड की सप्लाई करनी होती है। इसके लिए आप ऐसी जगह का चयन कर सकते हैं जहां पर चहल – पहल ज्यादा रहती है, जैसे कि कंपनी, कारखाने, स्कूल, कॉलेज आदि के बाहर। इस व्यवसाय में नया वाहन जैसे मिनी ट्रक आदि खरीदने की बजाय आप अपने पुराने वाहन या फिर किराये के वाहन का इस्तेमाल भी कर सकते हैं। सरकार से लोन प्राप्त करके आप फ़ूड ऑन व्हील व्यवसाय में लगने वाले सभी आवश्यक खर्चे जैसे खाना बनाने का सामान, बर्तन, वाहन आदि सभी कुछ का वहन आप खुद कर सकते हैं। इससे आप प्रतिदिन 5 से 10 हजार रूपये की आमदनी जुटा सकते हैं।


दवा की दुकान (Medical Shop)

दवा की दुकान खोलने के लिए आपके पास आवश्यक डिग्री होना चाहिए। तभी आपको इस दुकान को खोलने का लाइसेंस प्राप्त होता है। यदि आपको मेडिकल शॉप के लिए लाइसेंस प्राप्त हो जाता हैं। तो इसके बाद सरकार द्वारा आपको मिलने वाले लोन से आप इस दुकान को अच्छे से चला सकते हैं। दवाई की मांग हर समय होती हैं। इसलिए इस व्यवसाय में आपको नफा भी है, अतः इसे आप किसी हॉस्पिटल या फिर नामी डॉक्टर की क्लिनिक के सामने खोले तो आपको इससे होने वाले मुनाफे का रिजल्ट बहुत अच्छा मिलेगा।


ब्यूटीपार्लर (Beauty Parlor)

आज के दौर में महिला एवं पुरुष दोनों के अलग – अलग सैलून खुल गए हैं, और यहाँ सर्विस लेने के लिए बहुत से लोग जाते हैं।  जिसके कारण बहुत से ऐसे लोग जो इस व्यवसाय को कर रहे हैं, वे पिछले कुछ सालों से इस व्यवसाय में काफी मुनाफा कमा भी रहे हैं। यदि आपको ब्यूटीपार्लर में दी जाने वाली सर्विस अपने ग्राहकों को देनी आती है। तो यह एक बहुत ही अच्छा विकल्प हो सकता है। इसमें आपकी मदद सरकार से मिलने वाला मुद्रा लोन करेगा। इतने में आपके ब्यूटी पार्लर के सभी प्रोडक्ट्स, उपकरण एवं सर्विस देने का चार्ज सभी चीजें शामिल हो जाएगी।


मिठाई की दुकान (Sweet Shop)

हमारे देश में किसी भी शुभ काम होने के बाद मीठा खाने का रिवाज काफी समय से चला आ रहा है। मिठाई को लोग हर मौके पर खरीदते ही हैं चाहे कोई त्यौहार हो या किसी की शादी पार्टी आदि हो। मीठे की मांग हमारे देश में ज्यादा होने के कारण इसका व्यवसाय करना एक बहुत अच्छा आमदनी का साधन बन सकता है। जी हाँ यदि आपको विभिन्न तरह की और स्वादिष्ट मिठाइयाँ बनानी आती है। तो आप सरकार से लोन प्राप्त करके मिठाई की दुकान में लगने वाले सभी तरह के बर्तन, डिब्बे एवं अन्य चीजें खरीद सकते हैं। और अपनी एक छोटी सी मिठाई की दुकान खोल सकते हैं। यह दुकान यदि आप किसी मंदिर के सामने या फिर बाजार वाले एरिया में खोलें, तो आपको मुनाफा होने के चांस अधिक होंगे। अतः सरकार की मदद से आप बन सकते हैं हलवाई और मिठाई की दुकान खोल कर कर सकते हैं बेहतर बिज़नेस।


फोटोकॉपी की शॉप (Photocopy Shop)

लोगों को आज के समय में किसी भी स्थान पर अपने सरकारी दस्तावेज दिखाने की आवश्यकता पड़ जाती है। जैसे कि जब वे ट्रेन या बस की टिकेट खरीदते हैं तो उस दौरान आईडी प्रूफ चाहिए होता है। इसके अलावा बैंक में खाता खोलना हो, लाइसेंस प्राप्त करना हो, या फिर स्कूल एवं कॉलेज में भी विभिन्न डाक्यूमेंट्स चाहिए हो ऐसे में फोटोकॉपी शॉप की मांग बहुत अधिक होती है। कॉलेज या स्कूल में प्रोजेक्ट रिपोर्ट बनानी हो तो उसमें भी अपने डाक्यूमेंट्स की फोटोकॉपी कराने की आवश्यकता पड़ती है। यदि आप सरकार की मदद मिलने वाले मुद्रा लोन लेकर आप फोटोकॉपी मशीन खरीद लेते हैं, तो आप छोटी सी ही सही एक शॉप खोल सकते हैं। इसमें आप चाहे तो कुछ स्टेशनरी की चीजें एवं प्रिंटआउट निकालने के लिए एक कंप्यूटर और प्रिंटर भी रख सकते हैं। हालांकि इसमें आपको अधिक लागत लग सकती हैं इसलिए आप शुरुआत फोटोकॉपी की मशीन से करते हुए बाद में इसे बढ़ा सकते हैं। इस शॉप को आप कॉलेज या स्कूल के आस – पास या बाजार में खोले तो ज्यादा बेहतर होगा।




People also ask

प्रश्न:- मुद्रा लोन के लिए कैसे आवेदन करें?

उत्तर:- आवेदन फॉर्म mudra.org.in पर उपलब्ध है, आप फॉर्म डाउनलोड कर सकते हैं और सभी आवश्यक जानकारी भर सकते हैं। मुद्रा लोन (Mudra Loan) के लिए विभिन्न बैंकों की अलग-अलग आवेदन प्रक्रिया हो सकती है। उचित है पहले आवेदन उस बैंक में करें जिसमें आपका पहले से अकांउट है, वहां आवेदन स्वीकार होने की संभावना ज़्यादा होती है।


प्रश्न:- कौन-कौन से बैंक मुद्रा लोन देते हैं?

उत्तर:- प्राइवेट और पब्लिक, दोनों क्षेत्रों के कमर्शियल बैंक मुद्रा लोन (Mudra Loan) देने के लिए योग्य हैं। कुछ क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक (RRB) भी हैं, जो मुद्रा लोन देते हैं। चूंकि ब्याज दरें और एलिजिबिलिटी क्राइटेरिया एक बैंक से दूसरे बैंक में थोड़ा भिन्न होता है, आपको लोन के लिए आवेदन करने से पहले कुछ अलग-अलग बैंकों से आवश्यक जानकारी प्राप्त करनी चाहिए।


प्रश्न:- मुद्रा लोन (Mudra Loan) की भुगतान अवधि कितनी है?

उत्तर:- मुद्रा लोन की भुगतान अवधि अधिकतम 5 वर्ष तक है। 


प्रश्न:- मुद्रा लोन के अंतर्गत कितनी राशि दी जाती है?

उत्तर:- मुद्रा लोन के तहत न्यूनतम लोन राशि 50,000 रु. और अधिकतम 10 लाख रु. है।


प्रश्न:- क्या बैंक मुद्रा लोन के लिए अलग-अलग ब्याज दर देते हैं?

उत्तर:- हाँ, विभिन्न बैंकों की ब्याज दरों, योग्यता शर्तें और आवेदन प्रक्रिया में मामूली अंतर है। हालांकि, ब्याज दरें मुद्रा द्वारा शिशु, किशोर और तरुण मुद्रा लोन के लिए तय सीमा के अंदर ही रहती हैं।


प्रश्न:- क्या महिलाओं के लिए कोई विशेष मुद्रा लोन योजना है?

उत्तर:- हाँ, यूनाइटेड महिला उधमी योजना, मुद्रा योजना का एक हिस्सा है। इसके तहत उत्पादन, निर्माण या सेवा क्षेत्र की आर्थिक गतिविधियों सें जुड़ी महिलाएं लोन के लिए आवेदन कर सकती हैं। यह योजना विशेष रूप से महिला उद्यमियों को सशक्त बनाने और उन्हें आगे प्रोत्साहित करने के लिए बनाई गई है। कंपनी में 50 % से अधिक मालिकाना हक़ रखने वाली महिलाएं भी इस श्रेणी के अंतर्गत मुद्रा लोन के लिए आवेदन कर सकती हैं।


प्रश्न:- क्या मुद्रा लोन (Mudra Loan) के लिए कोई आरक्षण है?

उत्तर:- नहीं, कोई भी छोटा व्यापारी मुद्रा लोन (Mudra Loan) के लिए आवेदन कर सकता है। जो कोई भी मुद्रा लोन के लिए योग्य है वह लोन प्राप्त कर सकता है। इसलिए, मुद्रा लोन में कोई आरक्षण लागू नहीं है।


प्रश्न:- 50000 का लोन कैसे मिलता है?

उत्तर:- 50000 का लोन लेने के लिए योग्यता | 50000 Ka Loan lene ke liye Eligibility

  • आप भारतीय नागरिक होने चाहिए।

  • मंथली आय का जरिया होना चाहिए।

  • आधार से लिंक मोबाइल नंबर होना चाहिए।

  • CIBIL Negative में नही होना चाहिए (अगर आपने पहले कोई लोन लिया है तो उसका समय पर भुगतान होना चाहिए)।

  • सेविंग अकाउंट के साथ इन्टरनेट बैंकिंग भी होना चाहिए।




CONCLUSION

साल 2019-20 की रिपोर्ट के मुताबिक पीएम मुद्रा योजना के तहत 5,83,65,823 लोगों को 323,573 करोड़ रुपये के लोन की स्वीकृति दी गई है। इसमें से 316,099 करोड़ रुपये के लोन लोगों को बांटे जा चुके हैं।


पीएम मुद्रा योजना के बारे में अधिक जानकारी के लिए आप इस वेबसाइट पर विजिट कर सकते हैं: http://www.mudra.org.in/

तो ये थे सरकार द्वारा दिए जाने वाले 50 हजार रूपये तक का मुद्रा लोन लेकर शुरू किये जाने वाले कुछ व्यवसाय जिसको कर के आप आसानी से मुनाफा कमा सकते है।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ