Translate This Website In Any Language

MSME क्या है? बिजनेस करने के लिए बैंकों से एमएसएमई लोन कैसे प्राप्त करें?

केंद्र सरकार द्वारा शुरू किया गया पोर्टल द्वारा सिर्फ एक इनोवेटिव आइडिया से आप ऐसे बन सकते है बिज़नसमैन

एमएसएमई योजनायें, आईडियाज, इनोवेशन एवं रिसर्च पोर्टल, ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन, लोन (MSME New Business Ideas, Share Now, Startup, Innovation and Research Portal, Registration, Login, Create Account, Get Loan in Hindi)


अगर आपके पास कोई ऐसी आईडिया है जो किसी भी प्रॉब्लम का सलूशन प्रदान करती है तो आप उस आईडिया से इस पोर्टल के द्वारा आप बहुत ही आसानी से एक बिजनेस शुरू कर सकते हैं जिसे हम आमतौर पर स्टार्ट अभी बोल सकते हैं।


दोस्तों इस वेबसाइट पर अपने नए आइडियाज को साझा कर सकते हैं और आपकी आइडिया पसंद आने पर आपको एक अच्छी रकम की लोन भी प्रदान की जा सकती है जिसके सहारे आप अपने आइडिया से रिलेटिव कोई भी बिजनेस आसानी से शुरू कर सकते हैं।


इस पोर्टल के द्वारा कोई भी आम इंसान को अपने इनोवेटिव आइडिया को सरकार या दुनिया के सामने प्रदान करने की एक बेहतरीन मौका मिलेगा।


आइए जानते हैं यह कौन सा पोर्टल है जो केंद्र सरकार द्वारा शुरू किया गया है जिसके सहारे आप एक इनोवेटिव आइडिया से बहुत ही आसानी से अपना खुद का बिजनेस शुरू कर सकते हैं।


MSME क्या है? बिजनेस करने के लिए बैंकों से एमएसएमई लोन कैसे प्राप्त करें?

एमएसएमई क्या है?

आइए जानते हैं एम एस एम ई की परिभाषा क्या है। सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्योग (MSME) अपने देश में रोजगार एवं अर्थव्यवस्था की दृष्टि से बेहद महत्वपूर्ण कड़ी है। सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यम विकास बिल- 2005 (जो 12 मई, 2005 को संसद में प्रस्तुत किया गया था) को राष्ट्रपति द्वारा स्वीकृति मिलने के बाद msme-2006 अधिनियम बना दिया गया। इस अधिनियम को सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यम विकास अधिनियम, 2006 नाम दिया गया है।


MSME एक उद्यम सेक्टर है। यह सेक्टर दो तरह का है।


1- सर्विस सेक्टर : जिस सेक्टर में सेवा प्रदान करने का काम होता है वह सेक्टर सर्विस सेक्टर कहा जाता है


2- विनिर्माण यानी मैन्युफैक्चरिंग सेक्टर : जिस सेक्टर में प्रोडक्ट बनाने का काम होता है उसे मैन्युफैक्चरिंग सेक्टर के नाम से जाना जाता है।


सूक्ष्म उद्योग की परिभाषा

1 करोड़ तक इन्वेस्टमेंट और 5 करोड़ तक के टर्नओवर वाले उद्योग को सूक्ष्म उद्योग यानी माइक्रो इंटरप्राइ का दर्जा दिया गया है। मैन्युफैक्चरिंग और सर्विस दोनों सेक्टर।


लघु उद्योग की परिभाषा

10 करोड़ तक का इन्वेस्टमेंट और 50 करोड़ के टर्नओवर वाले इंटरप्राइज को स्मॉल यूनिट (लघु उद्योग) माना गया है। मैन्युफैक्चरिंग और सर्विस दोनों सेक्टर।


मध्यम उद्योग की परिभाषा

30 करोड़ तक का इन्वेस्टमेंट और 100 करोड़ के टर्नओवर वालों को मीडियम इंटरप्राइज (मध्यम उद्योग) माना गया है। मैन्युफैक्चरिंग और सर्विस दोनों सेक्टर।



MSME लोन क्या होता है?

एमएसएमई (MSME) मतलब माइक्रो, स्मॉल एंड मीडियम एंटरप्राइज होता है।(MSME) लोन एक प्रकार का बिज़नेस लोन है जो बैंकों / लोन संस्थानों द्वारा व्यक्तियों, SME, MSME और स्टार्ट-अप उद्यमों को दिया जाता है। एमएसएमई को प्रदान किया जाने वाले लोन को एमएसएमई लोन कहते हैं। MSME लोन का उपयोग बिज़नेस के मालिकों और इंटरप्राइज़ेज़ के द्वारा अपनी वर्किंग कैपिटल की आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए, कैश फ्लो के मैनेजमेंट या व्यवसाय को बढ़ाने के लिए, आदि के लिए किया जाता है। कई लोन संस्थान/ बैंक अपने ग्राहकों को कोलैटरल या किसी भी सिक्योरिटी के बिना SME और MSME लोन प्रदान करते हैं। सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्योग (MSME) सेक्टर के बिजनेस का संचालन सही तरीते से हो सके, इसके लिए केन्द्र सरकार प्रयासरत है। इसी क्रम में एमएसएमई कारोबारियों का सहज तरीके से लोन मुहैया कराने का प्रयास किया जाता है। एमएसएमई लोन देश के सभी सरकारी और प्राइवेट बैंको के साथ ही गैर बैंकिंग संस्थान यानी एनबीएफसी कंपनी से मिलता है।

इस लेख में हम बात करेंगे कि आप एमएसएमई लोन कैसे लें या आप MSME लोन कैसे प्राप्त कर सकते हैं? एमएसएमई लोन योजनाएं व इससे संबंधित अन्य जानकारी निम्नलिखित है।




एमएसएमई नवाचार, विचार पोर्टल के लाभ (MSME Innovation and Research Portal Benefits)

MSME लोन की विशेषताएं और लाभ

MSME यानी सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यमों की लघु और दीर्घकालिक व्यावसायिक जरूरतों को पूरा करने के लिए जो बिजनेस लोन प्रदान किया जाता है उस लोन को MSME लोन कहते हैं।

MSME लोन के माध्यम से एमएसएमई सेक्टर के बिजनेस अपनी कार्यशील पूंजी (वर्किंग केपिटल), पूंजीगत व्यय (केपिटल एक्सपेंडिचर) और गैर-निधि (नॉन-फंड) जैसी आवश्यकताओं को पूरा करता है।


  • इस वेब पोर्टल का मुख्य लाभ यह है कि इससे भारत में छुपे ऐसे नए विचार वाले व्यक्तियों के बारे में पता चलेगा जो देश को प्रगति की ओर ले जा सकते हैं।

  • मेक इन इंडिया के साथ इनोवेट इन इंडिया, एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हुए देश की प्रगति में योगदान देने का काम करेगा।

  • देश में आने वाली चुनौतियों का सामना करने व उनसे निजात पाने के लिए भी यह वेब पोर्टल बहुत ज्यादा सहायक सिद्ध होगा।

  • यदि देश में जन्म लेने वाले नए विचार यदि सबके सामने नहीं आएंगे तो धीरे-धीरे देश की प्रगति रुक जाएगी, इसलिए नये विचार आना फायदेमंद है।

  • चीन की वजह से पूरी दुनिया जो आज के समय में भुगत रही है और चीन से आने वाली सभी वस्तुओं के बारे में लोग इस वेब पोर्टल के जरिए अपने विचार विमर्श प्रकट करेंगे जिससे देश को चीन के प्रति जनता का एक अहम मत भी प्राप्त हो सकेगा।



केंद्र सरकार द्वारा उठाया गया यह कदम देश को ही नहीं बल्कि देश के नागरिकों को भी प्रोत्साहित करेगा। जब उनके द्वारा शेयर किए गए आइडिया के साथ एक नई पहल सरकार या बड़े उद्योगों में शुरू की जाएगी, तो उन्हें प्रोत्साहन और गर्व भी महसूस होगा। ऐसे में देश की अर्थव्यवस्था को बेहतर से बेहतरीन रूप देने में मुख्य योगदान भारत के नागरिक भी दे पाएंगे। इससे वर्तमान की पीढ़ी ही नहीं बल्कि भावी पीढ़ी भी अपने नए विचार शेयर करने में गर्व का अनुभव करेगी। इस वेब पोर्टल के जरिए आसानी से केंद्र सरकार चार पीढ़ियों को एक साथ जोड़ कर नए और पुराने विचारों को मिलाकर कुछ अनसुने विचार बनाने में सक्षम हो सकेगी। अतः सच में इस पोर्टल के माध्यम से मेक इन इंडिया के साथ इनोवेट इंडिया को मिलाकर भारत को एक नया रूप देने में केंद्र सरकार जरूर सफल हो पाएगी।



एमएसएमई (MSME) लोन के लिए आवश्यक दस्तावेज़

  • बिज़नेस प्लान

  • आधार कार्ड

  • सरकार द्वारा जारी कोई एक निवास पहचान प्रमाण पत्र

  • अनुसूचित जाति/अनुसूचित जनजाति या अन्य पिछड़ा वर्ग से संबंधित होने का प्रमाण, यदि लागू हो

  • आयु प्रमाण

  • पैन कार्ड

  • पिछले 12 महीनों का बैंक स्टेटमेंट

  • यदि आवश्यक हो तो लाइसेंस और बिजनेस रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट की कॉपी

  • अगर बिजनेस पहले से चल रहा है तो पिछले 2 वर्षों की प्रॉफिट एंड लॉस की बैलेंस शीट कॉपी

  • जीएसटी सर्टिफिकेट

  • नो ऑब्जेक्शन सर्टिफिकेट (NOC)

  • पासपोर्ट साइज़ फोटो के साथ हुआ एप्लीकेशन फॉर्म

  • आवेदक और सह-आवेदकों के केवाईसी दस्तावेज जिनमें पासपोर्ट, आधार कार्ड, वोटर आईडी, ड्राइविंग लाइसेंस, पैन कार्ड और यूटिलिटी बिल (टेलीफोन, बिजली) शामिल हैं

  • आय का प्रमाण

  • बिज़नेस के पते का प्रमाण

  • लोन संस्थान द्वारा आवश्यक कोई अन्य दस्तावेज




एमएसएमई (MSME) लोन / SME बिज़नेस लोन के लिए योग्यता शर्तें

MSME लोन किसे मिलता है- पात्रता क्या है?

एमएसएमई लोन के लिए अप्लाई करने के लिए सबसे पहले पात्रता की जांच कर लेना जरुरी होता है। क्योंकि पात्रता से ही यह पता चल जाता है कि लोन मिलेगा या नहीं मिलेगा। MSME लोन के लिए सभी बैंको द्वारा अलग – अलग पात्रता मापदंड़ो का पालन किया जाता है। हालांकि पात्रता में बहुत अंतर नहीं होता है। पात्रता मापदंड़ कुछ इस तरह का होता हैः


  • आवेदक की उम्र 18 वर्ष - 75 वर्ष के बीच हो

  • बिज़नेस न्यूनतम 3 साल से पुराना हो

  • CA प्रमाणित / ऑडिटेड बैलेंस शीट होना चाहिए

  • जिस बिजनेस के लिए लोन आवेदन किया जा रहा हो उस बिजनेस की प्रकृति प्रोपराइटरशिप / पार्टनरशिप / प्राइवेट लिमिटेड कंपनी / लिमिटेड कंपनी / LL की हो।

  • लोन के लिए योग्य हैं: व्यक्ति, SME, MSMEs, बिज़नेस, महिला उद्यमी, स्व-रोज़गार पेशेवर, SC / ST / OBC श्रेणी के अंतर्गत आने वाले लोग, व्यापारी, कारीगर, रीटेल व्यापारी,  सर्विस और मैन्यूफैक्चरिंग सेक्टर में लगे हुए बिज़नेस

  • बिज़नेस टर्नओवर: वर्तमान व्यवसाय के लिए ₹10 लाख, एक से दूसरे बैंक पर निर्भर

  • अच्छा भुगतान रिकॉर्ड होना चाहिए और वित्तीय स्थिरता

  • 750 से अधिक CIBIL स्कोर

  • किसी भी लोन संस्थान के साथ डिफॉल्ट न किया हो।



किस सरकारी योजना के अंतर्गत एमएसएमई (MSME) लोन मिलता है?

MSME लोन के द्वारा केन्द्र सरकार का प्रयास है कि देश में स्वरोजगार का माहौल खड़ा किया जाये। इसी के चलते तमाम ऐसी योजनाएं सरकार द्वारा संचालित की जा रहीं हैं जिसमें एमएसएमई लोन दिया जाता है। जिन सरकारी लोन योजनाऔं में एमएसएमई लोन मिलता है, वह योजनाएं निम्न हैः


एमएसएमई मंत्रालय के तहत शुरू की गई SME/ MSME लोन योजनाएं सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यमों (एमएसएमई) को विभिन्न बैंकों और NBFC द्वारा पेश की जाती हैं। बैंकों द्वारा दी जाने वाली और भारत सरकार द्वारा शुरू की गई लोकप्रिय MSME लोन योजनाएं नीचे दी गई हैं:


  • CGTMSE: सूक्ष्म और लघु उद्यमों के लिए क्रेडिट गारंटी फंड ट्रस्ट

  • CLSS: क्रेडिट लिंक्ड कैपिटल सब्सिडी योजना

  • क्रेडिट गारंटी योजना

  • PMMY के तहत मुद्रा लोन योजना

  • राष्ट्रीय लघु उद्योग निगम (एनएसआईसी) सब्सिडी

  • PMEGP: प्रधान मंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम

  • PMRY: प्रधानमंत्री रोजगार योजना

  • 59 मिनट में PSB लोन

  • स्टैंडअप इंडिया

  • स्टार्टअप इंडिया

  • प्रधानमंत्री एम्प्लॉयमेंट जनरेशन प्रोग्राम (पीएमईजीपी)

  • महिला उद्यमी योजना

  • माइक्रो – क्रेडिट योजना

  • मुद्रा कार्ड

  • इक्विपमेंट फाइनेंस योजना


इन सभी योजनाओं के तहत एमएसएमई लोन प्राप्त किया जा सकता है।



कोलैटरल/ सिक्योरिटी के बिना MSME बिज़नेस लोन 

MSME Business Loan ग्राहकों द्वारा उनकी वर्किंग कैपिटल ज़रुरतों को पूरा करने और व्यवसाय को बढ़ाने के लिए लिया जाता है। नए व्यवसाय के लिए जो MSME लोन बैंकों द्वारा दिए जाते हैं वो ज़्यादातर अन-सिक्योर्ड बिज़नेस लोन होते हैं, क्योंकि इस प्रकार के लोन के बदले उधारकर्ता से किसी तरह का कोलेटरल/ सिक्योरिटी नहीं ली जाती है।

बिना कोलेटरल/ सिक्योरिटी के एमएसएमई बिज़नेस लोन (Collateral Free MSME Loan) प्रतिस्पर्धी ब्याज दरों पर ऑफर किए जाते हैं जिन्हें EMI के रूप में आसानी से चुकाया जा सकता है। कोलेटरल/ सिक्योरिटी-फ्री लोन आमतौर पर शॉर्ट-टर्म लोन होते हैं जिन्हें 12 महीने की अवधि के भीतर चुकाया जा सकता है, और व्यावसायिक आवश्यकताओं के आधार पर ये अवधि 5 वर्ष तक हो सकती है।

लोन राशि आवेदक की प्रोफ़ाइल, भुगतान क्षमता और वित्तीय स्थिरता पर निर्भर करेगी। अधिकांश बैंक जैसे निजी और सार्वजनिक क्षेत्र के बैंक, गैर-बैंकिंग फाइनेंस कंपनियां (एनबीएफसी), क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक (आरआरबी), स्मॉल फाइनेंस बैंक (एसएफबी) और माइक्रो फाइनेंस संस्थान (एमएफआई) बिना कोलेटरल/ सिक्योरिटी के MSME लोन प्रदान करते हैं।



MSME लोन का उद्देश्य


  • वर्किंग कैपिटल आवश्यकताओं को पूरा करें

  • बिज़नेस बढ़ाने के लिए

  • कैश फ्लो मैनेज करने के लिए

  • नए इक्विपमेंट या मशीनरी खरीदने के लिए

  • कच्चे माल, वाहन, इक्विपमेंट, आदि की खरीद के लिए

  • इन्वेंट्री स्टॉक करने के लिए

  • किराए का भुगतान, वेतन आदि के भुगतान के लिए।



MSME लोन कैसे मिलता है?

जिस प्रकार से अन्य लोन मिलता है ठीक उसी प्रकार से एमएसएमई लोन मिलता है। कहने का मतलब यह है कि लघु उद्योग लोन के लिए भी एक तय प्रक्रिया का पालन करके उचित माध्यम से अप्लाई करना होता है। लोन अप्लाई करने से पहले पात्रता की जांच करना और जरुरी कागजात इक्कठा करना अनिवार्य होता है।

जब पात्रता की जांच कर लेते हैं और MSME लोन के लिए जरुरी कागजातों को इकठ्ठा कर लेते हैं तो एमएसएमई लोन के लिए आवेदन कर देना होता है। एमएसएमई लोन के लिए ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों माध्यमों से आवेदन किया जाता है।



एमएसएमई ऑनलाइन पंजीकरण प्रक्रिया क्या है?

(MSME Online Registration Process)


इस वेब पोर्टल पर आप किस प्रकार ऑनलाइन पंजीकरण करके अपना फॉर्म भरकर जमा करा सकते हैं आइए जानते हैं संपूर्ण प्रक्रिया :-


  • केंद्र सरकार द्वारा इस योजना के तहत एक वेबसाइट पोर्टल जारी किया गया है जिसका लिंक ideas.msme.gov.in/ है उस पर आपको क्लिक करना होगा.

  • वेबसाइट लिंक पर क्लिक करते ही आपके सामने एक इसका होम पेज ओपन होगा जहाँ से आपको ‘शेयर नाऊ’ पर क्लिक करना होगा.

  • इसके बाद आपसे इसमें लॉग इन करने के लिए कहां जायेगा, तो इसके पहले आपका इसमें रजिस्टर होना आवश्यक है.

  • इसके लिए आप नीचे दिए हुए ‘न्यू यूजर रजिस्ट्रेशन’ लिंक पर क्लिक करके खुद को रजिस्टर कर सकते हैं.

  • उस विकल्प पर क्लिक करते ही आपके सामने एक फॉर्म आ जाएगा जिसे आपको पूरी तरह से अपनी सही जानकारी के साथ भरना होगा

  • इसे भरने के बाद आपको उस वेबसाइट पोर्टल पर एक पासवर्ड भी बनाना होगा जिसकी पुष्टि करने के लिए आपको दोबारा से पासवर्ड वहां पर डालना भी होगा.

  • इसके बाद आपको अपने निवास स्थान से जुड़ी जानकारी भी इस फॉर्म में सही तरीके से भरनी होगी.

  • जब फॉर्म में सारी जानकारी आप पूरी भर देंगे तब आपको नीचे एक वेरिफिकेशन कोड दिखाई देगा. जिसे भरने के बाद अंत में ‘क्रिएट न्यू अकाउंट’ की बटन पर क्लिक करते ही आपका एमएसएमई की वेबसाइट में रजिस्ट्रेशन हो जायेगा.

  • इसके अलावा यदि आप उद्योग आधार के साथ खुद को रजिस्टर करना चाहते हैं, तो इसमें आपसे पूछा जाएगा कि आप अपना यह फॉर्म अपने आधार कार्ड के जरिए भरना चाहते हैं, या फिर मोबाइल नंबर या अपनी ईमेल आईडी के जरिए भरना चाहते है.

  • यदि आप दिए गए फॉर्म को अपने रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर अथवा ईमेल आईडी के साथ भरना चाहते हैं. तो इस फॉर्म में आपको अपनी यह जानकारी भरना होगी. और यदि आप आधार से इस फॉर्म को भरना चाहते हैं तो आप वहां पर अपने आधार नंबर को इंटर करिये.

  • अंत में वेरिफिकेशन कोड इंटर करने के बाद ‘क्रिएट न्यू अकाउंट विथ उद्योग आधार’ बटन पर क्लिक करिये. इससे आपका इसमें एक उद्योग के रूप में रजिस्ट्रेशन हो जायेगा.

  • आपका या आपके उद्योग का एक बार इस वेबसाइट में अकाउंट बन जायें तो इसके बाद आप अपने विचार इसमें शेयर कर सकते हैं.  



MSME लोन के लिए कैसे अप्लाई करें?

बिज़नेस लोन के लिए आवेदन करने के लिए, आवेदक व्यवसाय की आवश्यकताओं के अनुरूप विभिन्न लोन विकल्पों की जांच और तुलना कर सकते हैं। वेबसाइट के होमपेज पर ‘बिज़नेस लोन’ पर क्लिक करके बिज़नेस लोन के लिए अप्लाई करने के लिए नीचे दिए गए तरीके का पालन करें।


  • सभी आवश्यक जानकारी भरें, जैसे कितनी लोन राशि चाहिए, रोज़गार की स्थिति, वार्षिक बिक्री या कारोबार, निवास का शहर, वर्तमान व्यवसाय में कितने वर्ष हुए हैं, कोलेटरल/ सिक्योरिटी प्रकार और मोबाइल नंबर

  • शर्तों पर सहमत होने के लिए नीचे दिए गए बॉक्स को टिक करें और आगे “Unlock Best Offers” पर क्लिक करें

  • इसके अलावा आपको कंपनी का प्रकार, व्यवसाय की प्रकृति, उद्योग का प्रकार, कुल वार्षिक लाभ, बैंक खाता, कोई मौजूदा EMI, पूरा नाम, लिंग, रेजिडेंस पिन कोड, पैन कार्ड न०, जन्म तिथि और ईमेल आईडी जैसी जानकारियां दर्ज करें

  • सभी जानकारियां जमा करने के बाद, बैंक का प्रतिनिधि लोन फॉर्मेलिटी के लिए आपसे संपर्क करेगा

  • एक बार जब आपका लोन आवेदन स्वीकार हो जाता है, तो निर्धारित कार्य दिवसों के भीतर मंज़ूर लोन राशि आपके बैंक खाते में ट्रान्सफर कर दी जाएगी।


विभिन्न निजी और सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों, NBFC, स्मॉल फाइनेंस बैंक SFB, क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक (RRB) और माइक्रो फाइनेंस इंस्टिट्यूट (MFI) द्वारा दी जाने वाली MSME/ SME लोन ब्याज दरें, व्यवसाय की प्रकृति और भुगतान अवधि, आवेदक की प्रोफ़ाइल, भुगतान रिकॉर्ड, भुगतान क्षमता, लोन राशि जैसे विभिन्न कारकों पर आधारित हैं।



MSME लोन ब्याज दर – 2022

बैंक/ NBFC

ब्याज दर (प्रतिवर्ष)


कोटक महिंद्रा बैंक

16%- 19.99%

आवेदन करें

ऐक्सिस बैंक

14.25%-18.50%

आवेदन करें

एचडीएफसी बैंक

11.90%- 21.35%

आवेदन करें

आईसीआईसीआई बैंक

18% से शुरू

आवेदन करें

बजाज फिनसर्व

17% से शुरू

आवेदन करें

फुलर्टन फाइनेंस

17%- 21%

आवेदन करें

हीरो फिनकॉर्प

26% तक

आवेदन करें

IIFL फाइनेंस

11.75%- 25.75%

आवेदन करें

Indifi फाइनेंस

1.5% प्रति माह से शुरू

आवेदन करें

लेंडिंगकार्ट फाइनेंस

1.5%- 2% प्रति माह

आवेदन करें

नियोग्रोथ फाइनेंस

19%- 24%

आवेदन करें

टाटा कैपिटल फाइनेंस

19% से शुरू

आवेदन करें

ZipLoan

1%-1.5% प्रति माह (फ्लैट ROI)

आवेदन करें

आरबीएल बैंक

17.50%- 25%

आवेदन करें

आईडीएफसी फर्स्ट बैंक

14.50% से शुरू

आवेदन करें


नोट: उल्लिखित ब्याज दरें, शुल्क और शुल्क बैंक, NBFC और RBI के विवेक पर निर्भर करते हैं। उल्लिखित शुल्कों पर GST अतिरिक्त लगाया जाएगा



MSME लोन – विशेषताएँ, फीस और ब्याज दर

ब्याज दर

व्यावसायिक आवश्यकताओं पर निर्भर करता है

लोन राशि

लोन राशि की कोई न्यूनतम लिमिट नहीं है, वहीं अधिकतम लोन राशि1 ₹ करोड़  तक है जो कि व्यावसायिक आवश्यकताओं के अनुसार बढ़ सकती है

भुगतान अवधि

12 महीने से – 5 वर्ष

कोलेटरल

अनसिक्योर्ड बिज़नेस लोन के लिए आवश्यक नहीं है

प्रोसेसिंग फीस

लोन राशि का 0 से 4%

फोरक्लोज़र फीस

बकाया लोन राशि का 0 से 5%

पार्ट पेमेंट फीस

0 से 4 % तक

लोन केन्सेलेशन फीस

बैंक से बैंक में अलग अलग होती है

सब्सिडी

चयनित लोन संस्थानों द्वारा ऑफर की जाती है

क्रेडिट सुविधाएँ

वर्किंग कैपिटल लोन, बिल डिस्काउंटिंग, ओवरड्राफ्ट, कैश क्रेडिट, लैटर ऑफ़ क्रेडिट, बिल परचेज़, मर्चेंट ऑफ़ कैश एडवांस आदि



नोट: ऊपर दी गई सभी ब्याज दरें, फीस और शुल्क परिवर्तन के अधीन हैं और बैंक/ एनबीएफसी और आरबीआई के पूर्ण विवेक पर निर्भर हैं। दिए गए शुल्कों पर जीएसटी और सर्विस तक अतिरिक्त लगाया जाएगा।



सामान्य पूछताछ के लिए: 


011-23063288/011-23063643


MSME टोल-फ्री न०: 1800-123-7376



जल्दी पैसा कमाने के लिए कुछ नए बिज़नेस आइडिया 

जैसे जैसे बाज़ार में नए आइडिया आ रहे हैं, वैसे-वैसे पहले की तुलना में अब पैसा कमाना आसान हो गया है। अच्छी आर्थिक स्थिति वाला एक व्यक्ति अपनी एक मज़बूत स्वतंत्र छवि बनाता है जिससे उसका आत्मविश्वास बढ़ता है। अगर आप भी कोई ऐसा व्यवसाय करना चाहते हैं जिससे जल्दी पैसे कमा पाएं तो इसके लिए इस लेख को पढ़ें। पैसे कमाने के कुछ बिज़नेस आईडिया निम्नलिखित हैं:


1.फ्रीलांसिंग प्रोफेशनल्स:

फ्रीलांसिंग तुरंत पैसा कमाने के विकल्पों में से एक है, क्योंकि फ्रीलांसर को प्रोजेक्ट पूरा होने के बाद पैसा मिल जाता है। फ्रीलांसर अ[नी रुचि के अनुसार अपना प्रोजेक्ट चुन सकता है। फ्रीलांसिंग का चलन तेज़ी से बढ़ रहा है, क्योंकि इसमें आप अपनी मर्ज़ी मुताबिक काम करते हैं, कोई आपका मालिक नहीं होता है और काम के अनुसार फीस भी तय कर सकते हैं।


2. फूड और बेव्रेज:

दुनिया में कहीं भी, अगर कोई भी भोजन से संबंधित व्यवसाय करने की योजना बना रहा है, तो इस बात की बहुत अधिक संभावना है कि उसे लाभ होगा। लेकिन लाभ खाने की क्वालिटी और प्रकार पर निर्भर करता है। इस बिज़नेस को बेहतर करने के लिए आपके मेन्यू उस जगह के वातावरण के हिसाब से रखना चाहिए। स्थानीय सभ्यता को भोजन में जोड़ा जा सकता है ताकि लोगों का आकर्षण उसकी तरफ बढ़ें।

दूसरा विकल्प शहर में रहने वाले लोगों के लिए दूसरे शहर या राज्य से नौकरी या पढ़ाई या काम करने के उद्देश्य से लंच बॉक्स या टिफिन सर्विस हो सकता है। टिफिन/ लंचबॉक्स सर्विस में पके हुए भोजन को अच्छी क्वालिटी के साथ किफ़ायती कीमत पर दिया जाएगा तो अच्छा मुनाफ़ा कमाया जा सकता है।


3. ब्लॉगिंग:

यदि आप ऐसे व्यक्ति हैं जो लेखन से प्यार करता है और अपने काम के लिए आपको पब्लिशर नहीं मिल रहा है, तो आप अपना ब्लॉग बना सकते हैं और वहां अपने लेख लिख सकते हैं। आप अपने ब्लॉग से आसानी से लाभ कमा सकते हैं। अपने ब्लॉग को बनाने के लिए किसी विशेष स्किल की आवश्यकता नहीं होती है, लेकिन आप जो लिखते हैं उसके बारे में आपको अच्छी जानकारी होना सबसे महवपूर्ण है। साथ ही कोशिश करें कि आप ट्रेंड में चल रहे विषयों पर लिख सकें और हाई ट्रेंड वाले Keyword यानी शब्द अपने ब्लॉग में डालें, इस तरह आपके ब्लॉग पर अधिक विज़िटर आ सकते हैं।


4. बुटीक:

भारत में, बुटीक के माध्यम से कमाई दिन- प्रतिदिन बढ़ी है और यह व्यवसाय आपके घर पर भी एक छोटे से कमरे या खाली जगह में शुरू किया जा सकता है। आपको बस ये तय करना होगा कि आप किसके लिए कपड़े बनाना चाहते हैं। उसके बाद आपके एक कटिंग मास्टर और कपड़े सिलने के लिए कारीगरों को नौकरी पर रखना होगा। आप एथनिक से लेकर वेस्टर्न कपड़े तक सिलवा सकते हैं। आजकल जितनी जल्दी फैशन ट्रेंड बदलता रहता है, तो आपको ग्राहकों की कमी बी नहीं होगी और आप उन्हें समय पर अच्छी सिली हुई ड्रेस दे पायें।


5. डिजिटल मार्केटिंग:

रेफरल मार्केटिंग युवा लोगों द्वारा चुने गए बढ़ते व्यवसायों में से एक है। सामान की क्वालिटी और विशेषताओं के बारे में ग्राहकों के समझाने के लिए ‘वर्ड-ऑफ-माउथ’ की तकनीक सबसे उपयोगी है। अमेज़न, एमवे जैसी बहुत- सी कंपनियां हैं जिन्हें अपना बिज़नेस बढ़ाने के लिए बड़ी संख्या में ग्राहकों तक पहुंचने के लिए डिजिटल मार्केटिंग प्लेटफॉर्म की आवश्यकता होती है। जितने अधिक ऑर्डर आपके द्वारा उन्हें मिलते हैं, आप उतना ही कमाते हैं। क्योंकि आप एक या कई कंपनियों के अनेक प्रोडक्ट्स के लिए मार्केटिंग करते हैं।यह सारा काम सोशल मीडिया और नेटवर्किंग वेबसाइटों के माध्यम से किया जा सकता है।


6. कस्टम ज्वेलरी:

यंगस्टर्स इन दिनों शोरूम में बनी ज्वेलरी लेने के बजाय कस्टम मेड ज्वेलरी का विकल्प चुन रहे हैं। ग्राहकों को उनकी पसंद की ज्वेलरी लेने में मदद करने के लिए आप उन्हें ज्वेलरी डिज़ाइन दिखा सकते हैं, और उनकी पसंद की ज्वेलरी लेने में उनकी मदद कर सकते हैं। कस्टम ज्वेलरी का आइडिया ग्राहकों को महसूस कराता है कि वो ख़ास हैं। ग्राहक इन ज्वेलरी के लिए अच्छी राशि भी देने को तैयार होते हैं। इसलिए, यह भारत में आसान और तेज पैसा कमाने का आइडिया भी है।


संबंधित प्रश्न (FAQs)

प्रश्न. क्या MSME रजिस्ट्रेशन स्वैच्छिक है या अनिवार्य?

उत्तर: MSME रजिस्ट्रेशन पूरी तरह से स्वैच्छिक है और इसके तहत दिए जाने वाले लाभों का उपयोग व्यवसाय करते हैं।


प्रश्न. क्या MSME लोन प्राप्त करने में MSME के लिए क्रेडिट स्कोर महत्वपूर्ण है?

उत्तर: हाँ, एक अच्छा क्रेडिट स्कोर रखना एक MSME के लिए हमेशा लाभदायक होता है।


प्रश्न. प्रोविजनल रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट (PRC) की वैधता कितनी है?

उत्तर: प्रोविजनल रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट  (PRC) की वैधता 5 वर्ष है।


प्रश्न. टेक्नोलॉजी अपग्रेड्स (प्रौद्योगिकी उन्नयन) के लिए क्या सहायता उपलब्ध है?

उत्तर: भारत सरकार और MSME मंत्रालय क्रेडिट लिंक्ड कैपिटल सब्सिडी स्कीम (CLCSS) चलाते हैं जो देश में MSME उद्यमों को प्रौद्योगिकी उन्नयन के लिए सहायता करती है। उद्योग के मानकों के अनुसार टेक्नोलॉजी को सुधारने और उन्नत बनाने के लिए योग्य MSME उद्यमों को 15% पूंजीगत सब्सिडी प्रदान करती है। एक उद्यम द्वारा प्राप्त अधिकतम सब्सिडी 15 लाख रुपये की सीमा तक हो सकती है। इन सेवाओं का लाभ उठाने के लिए, व्यक्ति निकटतम नोडल एजेंसी / फाइनेंशियल संस्था से संपर्क कर सकते हैं।


प्रश्न. SBI द्वारा दी जाने वाली MSME लोन ब्याज दर कितनी है?

उत्तर: SBI द्वारा दी जाने वाली MSME लोन ब्याज दर 8.30% है।


प्रश्न. एमएसएमई रजिस्ट्रेशन फीस कितनी है?

उत्तर: एमएसएमई रजिस्ट्रेशन मुफ्त है और MSME प्रमाणपत्र प्राप्त करना भी बिल्कुल मुफ्त है।


प्रश्न. क्या MSME प्रमाणपत्र की कोई वैधता है?

उत्तर: MSME सर्टिफिकेट की वैधता 5 साल की है।


प्रश्न. मंत्रालय द्वारा प्रदान किए गए टूल-रूम का क्या लाभ है?

उत्तर: MSME मंत्रालय MSME उद्यमों को उच्च-तकनीकी टूल-रूम प्रदान करता है ताकि उनके उत्पाद और सेवाएँ बाज़ार में अपने लिए एक जगह बना सकें। MSME मंत्रालय की टूल-रूम पहल भी उधम को प्रशिक्षित कारीगर आदि प्रदान करती है।


प्रश्न. एमएसएमई में कौन कौन से बिजनेस आते हैं?

उत्तर: MSME Udhyog List 2021

  • आटा चक्की

  • शौचालय साबुन निर्माण

  • टमाटर सॉस निर्माण

  • रोस्टेड राइस फ्लेक्स

  • केला फाइबर निष्कर्षण और बुनाई

  • कंप्यूटर कोडांतरण

  • लाइट इंजीनियरिंग (नट, बोल्ट, वाशर, रिवेट्स आदि)

  • धातु आधारित उद्योग: कृषि उपकरण, कटलरी और हाथ उपकरण


प्रश्न. MSME का क्या मतलब है?

उत्तर: एमएसएमई का मतलब सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम है. ये देश के सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) में लगभग 29 फीसदी का योगदान करते हैं. एमएसएमई सेक्टर देश में रोजगार का सबसे बड़ा जरिया है।


प्रश्न. एमएसएमई/ एसएमई लोन के लिए आवश्यक डॉक्यूमेंट क्या हैं?

उत्तर: एमएसएमई/ एसएमई लोन के लिए अप्लाई करने के लिए, आपको आवश्यक डॉक्यूमेंट यहां दिए गए हैं:

  • केवायसी डॉक्यूमेंट

  • बिज़नेस ओनरशिप का प्रूफ

  • लाभ और हानि स्टेटमेंट और बैलेंस शीट

अगर आवश्यक हो, तो आपको अतिरिक्त डॉक्यूमेंट सबमिट करने के लिए भी कहा जा सकता है।


प्रश्न. एसएमई/एमएसएमई लोन के लिए कौन पात्र है?

उत्तर: वे एप्लीकेंट जो कम से कम 2 साल से बिज़नेस चला रहे हैं, MSME लोन के लिए अप्लाई कर सकते हैं। उनकी आयु 24 से 75 वर्ष के आयु वर्ग में होनी चाहिए और उनके बिज़नेस की कम से कम 1 वर्ष की IT (आयकर) रिटर्न जमा होनी चाहिए।


लोन के लिए पात्रता प्राप्त करने के लिए, ये आसान मानदंड हैं:

  • राष्ट्रीयता: भारतीय

  • बिज़नेस विंटेज: कम से कम 3 वर्ष

  • आयु: 24 से 75 वर्ष*
    *लोन मेच्योरिटी के समय आयु 70 वर्ष होनी चाहिए

  • रोज़गार का प्रकार: स्व-व्यवसायी

  • सिबिल स्कोर: 685 या उससे अधिक


प्रश्न. क्या नया बिजनेस शुरु करने लिए भी एमएसएमई लोन मिलता है?

उत्तर: बिल्कुल। नया बिजनेस शुरु करने के लिए प्रधानमंत्री एम्प्लॉयमेंट जनरेशन प्रोग्राम (पीएमईजीपी) योजना के तहत MSME लोन मिलता है।


प्रश्न. MSME लोन कौन ले सकता है?

उत्तर: कंपनियां, स्व-व्यवसायी प्रोफेशनल और स्व-व्यवसायी गैर-प्रोफेशनल जैसे प्रोप्राइटर, रिटेलर, व्यापारी और अन्य लोग ZipLoan से MSME लोन ले सकते हैं

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ