Translate This Website In Any Language

पीएम स्वनिधि योजना क्या है? जानें कौन उठा सकते हैं इस योजना का लाभ

अपना बिजनेस शुरू करने के लिए सरकार दे रही है 10000 रुपए का आसान लोन-PM SVaNidhi Yojana

PMSY: पीएम स्वनिधि योजना क्या है? जानें कौन उठा सकते हैं इस योजना का लाभ

प्रधानमंत्री स्वनिधि योजना 2023 (आवेदन प्रक्रिया, पात्रता, सूचि) (PM SVaNidhi Yojana in hindi)


PM Svanidhi Yojana: कोरोना संकट के दौर में जब देश में लॉकडाउन किया गया उस वक्त बहुत से लोगों को अपनी नौकरी छोड़ कर अपने पैतृक स्थान पर जाना पड़ा गरीब लोगों की कामकाजी मुश्किलें दूर करने के लिए पीएम मोदी ने पीएम स्वनिधि योजना (PM Svanidhi Yojana) शुरू की थी. PM Svanidhi Yojana के जरिए बैंक से लोन दिलाया जाता है जिसके ब्याज पर सब्सिडी मिलती है

PM Svanidhi Yojana

PM Svanidhi Yojana के तहत रेहड़ी पटरी पर सामान बेचने वाले या अन्य छोटा-मोटा काम करने वाले लोग बैंक से ₹10,000 तक का कर्ज ले सकते हैं. पहली बार में लिए गए कर्ज को समय से चुका देने के बाद PM Svanidhi Yojana के लाभार्थी दूसरी बार में 20,000 और तीसरी बार में 50,000 तक का लोन पा सकते हैं.


पीएम स्वनिधि योजना (PM Svanidhi Yojana) के तहत डिजिटल लेन-देन को प्रोत्साहित करने के लिए रेहडी-पटरी सामान बेचने वाले लोगों को qr-code प्रशिक्षण और कैशबैक आदि की सुविधा दी जाती है.


केंद्र सरकार ने रेहड़ी-पटरी पर कारोबार करने वाले लोगों को बड़ी राहत देते हुए PM Svanidhi Yojana के तहत लोन लेने की अवधि बढ़ा दी है. स्वनिधि स्कीम का कार्यकाल पहले मार्च 2022 तक था, लेकिन सरकार ने स्वनिधि स्कीम की डेडलाइन को बढ़ा दिया है. PM Svanidhi Yojana के तहत लोन लेने की अवधि को सरकार ने दिसंबर 2024 तक के लिए बढ़ा दिया है. केन्द्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर ने पीएम स्वनिधि स्कीम के तहत लोन लेने की अवधि बढ़ाने के बारे में ट्वीट करके जानकारी दी है.



क्या है पीएम स्वनिधि योजना?

पीएम स्वनिधि योजना

PM SVANidhi Yojana: केंद्र सरकार (Modi Government) देश के गरीब वर्ग के लोगों के लिए तरह-तरह की स्कीम लेकर आती रहती है. इस स्कीम के जरिए सरकार लोगों को आर्थिक और सोशल सिक्योरिटी (Social Security) देती है. ऐसी ही इस स्कीम का नाम है प्रधानमंत्री स्ट्रीट वेंडर्स आत्मनिर्भर योजना (PM SVANidhi Yojana) है. इस स्कीम की शुरुआत 2 जुलाई 2020 में की गई थी.इस स्कीम के जरिए 24 मार्च 2020 से पहले रेहड़ी-पटरी लगाने वाले लोगों को सरकार लोन की सुविधा देती है. यह लोग गारंटी फ्री रहता है.


पहले इस लोन की समय सीमा मार्च 2022 तक तय की गई थी जिसे बढ़कर अब दिसंबर 2024 तक कर दिया गया है. कोरोना महामारी की शुरुआत के बाद देश में मार्च 2020 में लॉकडाउन लगा दिया गया था. इसका सबसे ज्यादा असर मजदूरी करने वालों और रेहड़ी पटरी चलाने वाले लोगों पर पड़ा था.


ऐसे में सरकार ने इन लोगों की मदद करने के लिए पीएम स्वनिधि योजना (PM Svanidhi Yojana) की शुरुआत की थी जिसके द्वारा सरकार ने रेहड़ी-पटरी चलाने वाले लोगों को 10,000 रुपये का गारंटी फ्री लोन (Guarantee Free) देने की सुविधा शुरू की है. इस योजना के तहत लोगों को लोन 1 साल में लौटने होता है. अगर आप इस लोन को लेने के बाद एक साल के अंदर लौटा देते हैं तो दूसरी बार आपको 20,000 रुपये का लोन और तीसरी बार 50,000 रुपये का लोन मिल सकता है.



1 साल का होता है गारंटी मुक्त लोन

सरकार द्वारा जारी किए गए आंकड़ों के मुताबिक अब तक सरकार ने कुल 34 लाख से अधिक रेहड़ी-पटरी वालों को 3,628 करोड़ रुपये का लोन पीएम स्वनिधि योजना के तहत बांटा गया है. इस लोन को सरकार बिना किसी गारंटी के भी देती है. अगर आप एक साल में लोन चुका देते हैं तो आपको 7 प्रतिशत का सालाना ब्याज में सब्सिडी भी मिलती है. ऐसे में आपको कुल 1200 रुपये का कैशबैक (Cashback) आपके खाते में आता है.



प्रधानमंत्री स्वनिधि योजना के तहत लोन प्राप्त करने वाले व्यवसाय

प्रधानमंत्री स्वनिधि योजना के तहत कुछ छोटे – मोटे व्यवसाय करने वाले लोगों को 10 हजार रूपये की लोन की राशि प्रदान की जाती है. ये व्यवसाय निम्न में से कोई भी हो सके हैं जैसे –


  • फल एवं सब्जी की दुकान लगाना

  • स्ट्रीट फ़ूड के ठेले लगाना

  • चप्पल एवं जूते सिलाई का काम करना

  • कपड़े धोने का काम करना

  • पान की दुकान या ठेला लगाना

  • बाल काटना

  • चाय ठेला

  • समौसा, ब्रेड पकौड़ा, मिठाइयाँ और साथ ही अंडे बेचना

  • सड़क के किनारे किताबें एवं स्टेशनरी की दुकान

  • दरवाजे खिड़की का काम  



प्रधानमंत्री स्वनिधि योजना में पात्रता मापदंड (Eligibility Criteria)

प्रधानमन्त्री स्वनिधि योजना का हिस्सा बनकर लोन प्राप्त करने के लिए आपका निम्न पात्रता मापदंड पर खरा उतरना आवश्यक होगा –

  • भारत का निवासी :- इस योजना का हिस्सा बनने के लिए आवश्यक हैं कि लाभार्थी को भारत की नागरिकता प्राप्त हो. अन्य देश की नागरिकता वाले लोगों को लोन की प्राप्ति नहीं हो पायेगी.

  • स्ट्रीट वेंडर्स :- ऐसे व्यक्ति जोकि छोटे – मोटे ठेले चलाकर या दुकाने खोलकर, या फिर फेरी लगाकर काम करते हैं, और इससे प्राप्त होने वाले पैसे से अपने घर एवं परिवार को चलाते हैं, वे इसमें लाभार्थी होंगे.

  • लॉकडाउन के चलते नौकरी छिन जाने वाले :- इस योजना में ऐसे लोग भी लोन ले सकते हैं. जिनकी लॉकडाउन के दौरान काम नहीं होने के कारण नौकरी छिन गई हैं और वे बेरोजगार हो गए हैं.



प्रधानमंत्री स्वनिधि योजना के कुल लाभार्थी (Total Beneficiaries)

राज्य सरकारों से इकठ्ठा किये गये शुरूआती आंकड़ों के अनुसार, लगभग 50 लाख स्ट्रीट वेंडर्स को पीएम स्ट्रीट वेंडर आत्मनिर्भर यानि कि पीएम स्वनिधि योजना से लाभांवित किया जायेगा. केंद्र सरकार इस क्षेत्र में 5 हजार करोड़ रूपये का क्रेडिट फ्लो बढाने जा रही है. इसके अलावा जो स्ट्रीट वेंडर डिजिटल भुगतान और समय पर पुनर्भुगतान का उपयोग करते हैं, उन्हें मोनेटरी पुरस्कार के माध्यम से प्रोत्साहित किया जायेगा.  



प्रधानमंत्री स्वनिधि योजना के तहत लोन के लिए आवेदन कैसे करें (How to Apply )

10 हजार रूपये तक का प्रारंभिक कार्यशील पूंजी लोन प्रदान करने के लिए, सरकार ने पीएम स्ट्रीट वेंडर आत्मनिर्भर योजना 2020 शुरू की है. इस योजना के लिए ऑनलाइन आवेदन अब 1 जुलाई, 2020 से शुरू हो रहे हैं. लोन की प्राप्ति के लिए आवेदन करने की प्रक्रिया नीचे दी गई है –


  • सबसे पहले लाभार्थियों को पीएम स्वनिधि योजना की अधिकारिक वेबसाइट आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा.

  • जब वे इसके होम पेज पर आएंगे, तो ‘प्लानिंग टू अप्लाई फॉर लोन’ सेक्शन में आना होगा, वहां उन्हें आवेदन करने के लिए 3 स्टेप फॉलो करने के लिए कहा जायेगा. ये 3 स्टेप लोन के आवेदन के लिए आवश्यकताओं को समझें, सुनिश्चित करें कि आपका मोबाइल नंबर आपके आधार से लिंक है, एवं योजना के नियमों के अनुसार अपनी पात्रता की स्थिति की जाँच करें. आदि हैं.

  • जब वे पहले स्टेप को देखेंगे तो उसमें एक लिंक दिखाई देगी जोकि प्रधानमंत्री स्वनिधि योजना का रजिस्ट्रेशन फॉर्म होगा, उस पर क्लिक करने से उनके सामने उस फॉर्म की पीडीएफ कॉपी खुल जाएगी, जिसे आसानी से प्रिंट किया जा सकता है.  

  • इसका प्रिंट निकाल कर वे इसे सही ये भरें और इसे आवश्यक दस्तावेजों के साथ सम्बंधित अधिकारीयों को सेंड कर दें. ये 3 स्टेप फॉलो करने के बाद ‘व्यू मोर’ बटन पर क्लिक करें. जिसमें आपको इस योजना से संबंधित अन्य जानकारी प्राप्त हो जाएगी.



नोट – पीएम स्वनिधि योजना के बीटा वर्शन को सचिव एवं शहरी और आवास मंत्रालय द्वारा कल शुरू किया गया है. 1 जुलाई से इसके लिए आवेदन करने की प्रक्रिया शुरू हो रही हैं और 2 जुलाई से ऑनलाइन लोन आवेदन की स्वीकृति का कार्य शुरू हो जायेगा.




People also ask

Q : प्रधानमंत्री स्वनिधि योजना के तहत स्ट्रीट वेंडर्स को कितना लोन प्रदान किया जायेगा ?

Ans : प्रधानमंत्री स्वनिधि योजना के तहत स्ट्रीट वेंडर्स को अपना व्यवसाय करने के लिए 10 हजार रूपये की लोन राशि प्रदान की जाएगी.



Q : प्रधानमंत्री स्वनिधि योजना में किन लोगों को पात्र माना गया है ?

Ans : प्रधानमंत्री स्वनिधि योजना में लाभार्थी सड़क के किनारे ठेले या छोटी दुकान लगाने वाले एवं फेरीवालों को पात्र माना गया है.



Q : प्रधानमंत्री स्वनिधि योजना के तहत लोन प्राप्त करने के लिए क्या करें ?

Ans : प्रधानमंत्री स्वनिधि योजना के तहत लोन प्राप्त करने के लिए आपको संबंधित विभाग की अधिकरिक वेबसाइट में जाकर आवेदन करना होगा. इसके बाद आपको लोन की स्वीकृति दी जाएगी.


Q : प्रधानमंत्री स्वनिधि योजना का नाम स्वनिधि क्यों है ?

Ans : प्रधानमंत्री स्वनिधि योजना का पूरा नाम है प्रधान मंत्री स्ट्रीट वेंडर्स आत्मनिर्भर निधि योजना. इसलिए इसे शोर्ट फॉर्म में स्वनिधि योजना कहा गया है.


Q : प्रधानमंत्री स्वनिधि योजना में ब्याज सब्सिडी की दर और राशि क्या है ?

Ans : इस योजना में ब्याज की दर 7 % है. ब्याज सब्सिडी की राशि तिमाही आधार पर सीधे आपके खाते में जमा की जाएगी. 10 हजार का लोन लेने के बाद यदि आप इसे 12 ईएमआई का भुगतान समय पर सकते हैं तो आपको ब्याज सब्सिडी राशी के रूप में लगभग 400 रूपये अतिरिक्त मिलेंगे.


Q : पीएम स्वनिधि योजना में कैसे आवेदन करें?

Ans :

  1. स्वनिधि योजना का लाभ लेने के लिए आपको सबसे पहले इसकी ऑफिसियल वेबसाइट पर जाना होगा।

  2. आधिकारिक वेबसाइट के होम पेज पर आने के बाद आपको कुछ विकल्प दिखाई देंगे। ...

  3. होम पेज पर आपको नीचे की तरफ Planning to Apply for Loan विकल्प दिखाई देगा, यहां पर आप तीन स्टेप्स में आवेदन फॉर्म पूरा कर सकते है।


Q : 10000 का लोन कैसे मिल रहा है?

Ans : केंद्र सरकार ने आत्मनिर्भर भारत अभियान के तहत इस योजना की शुरुआत की है. इस स्कीम के तहत स्ट्रीट वेंडर्स को एक साल के लिए 10,000 रुपये तक का कोलेट्रल फ्री लोन मिल सकता है. यानी इस योजना में आपको लोन लेने के लिए किसी भी तरह की गारंटी नहीं देनी होगी. नई दिल्ली: कोरोना की सबसे ज्यादा मार दिहाड़ी मजदूरों पर पड़ी थी.


Q : प्रधानमंत्री स्व निधि योजना की शुरुआत कब हुई?

Ans : हमारे देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के द्वारा प्रधानमंत्री स्ट्रीट वेंडर्स आत्मनिर्भर निधि योजना को 2 जुलाई 2020 को आरंभ किया गया था। इस योजना को करोना महामारी के दौरान व्यवसाय में संकट का सामना कर रहे रेहड़ी पटरी वालों की मदद करने के लिए आरंभ किया गया था।


Q : पीएम स्वानिधि के लिए कौन पात्र हैं

Ans : कोई भी शहरी विक्रेता और साथ ही 24 मार्च 2020 को या उससे पहले आसपास के ग्रामीण और अर्ध-शहरी क्षेत्रों में काम करने वाले लोग ऋण के लिए आवेदन करने के पात्र होंगे। प्रारंभ में रुपये की एक कार्यशील पूंजी। 10,000 प्रदान किए जाएंगे।


एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ